top of page

अधिवक्ता या वकील (Advocate) कैसे बने पूरी जानकारी || अधिवक्ता बनने के लिए योग्यता व नियम


अधिवक्ता या वकील

समाज में कानून व्यवस्था को सुचारू रूप से पालन कराने के लिए कुछ नियम कानून सरकार के माध्यम से बनाए गए हैं समाज में हो रहे व्यापक अत्याचार, कानून का दुरुपयोग रोकने के लिए न्यायालय का निर्माण किया गया है जिसमें वादी या प्रतिवादी के तरफ से मुकदमे की पैरवी करने के लिए अधिवक्ता की जरूरत होती है अधिवक्ता को वादी और प्रतिवादी के तरफ से उसे फीस प्राप्त होती हैं।


अधिवक्ता बनने के लिए योग्यता व नियम

अधिवक्ता बनने के लिए सर्वप्रथम 5 वर्षीय या 3 वर्षीय एलएलबी स्नातक होना अनिवार्य है आप किसी भी युनिवर्सिटी जो बार काउंसिल आफ इंडिया से एलएलबी की योग्यता के लिए डिग्री देने के लिए रजिस्टर्ड हो वहां से यह कोर्स कर सकते हैं कोर्स के उपरांत उपरांत आपको कॉलेज द्वारा डिग्री प्राप्त होता है| उसके बाद आप स्टेट बार काउंसिल में रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन कर सकते हैं |

स्टेट बार काउंसिल में रजिस्ट्रेशन के लिए निम्नलिखित प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती हैं

1-हाई स्कूल प्रमाण पत्र

2- स्नातक मार्कशीट या प्रमाण पत्र

3- एलएलबी मार्कशीट या प्रमाण पत्र

4- डिग्री या प्रोविजनल डिग्री

5- ब्लैक कोट टाई में 5 फोटो

6- नोटरी एफिडेविट

7- स्टेट बार काउंसिल की रजिस्ट्रेशन फीस ( डी डी ) में


नोट- स्टेट बार काउंसिल की फीस भिन्न भिन्न राज्यों में अलग हो सकती हैं।

यहां सभी ओरिजिनल प्रमाण पत्र आवेदन पत्र के साथ संलग्न करके जमा करने के बाद कुछ दिनों में आपको रजिस्ट्रेशन नंबर ,आईडी कार्ड पत्र प्राप्त कर सकते हैं तत्पश्चात आपको बार काउंसिल ऑफ इंडिया का एग्जाम पास करना होता है बार काउंसिल ऑफ इंडिया का एग्जाम पास करने के बाद बीसीआई का सर्टिफिकेट प्राप्त होता है | उसके उपरांत आप सी ओ पी ( सर्टिफिकेट आफ प्रैक्टिस ) के फॉर्म को आवेदन कर सकते हैं तब आपको सी ओ पी नंबर प्राप्त होता है उसके बाद आप किसी भी सीनियर अधिवक्ता के साथ अपनी प्रैक्टिस की शुरुआत कर सकते हैं।


राहुल कुशवाहा

अधिवक्ता विधिक सलाहकार

उच्च न्यायालय इलाहाबाद

सम्पर्क सूत्र 👉 +919452714702



 

Advocate or Lawyer

For the smooth implementation of the law and order in the society, some rules have been made through the government, the widespread atrocities happening in the society, to prevent the misuse of this law, the court has been created in which the plaintiffs are on behalf of the defendant. An advocate is needed to represent the advocate, the advocate receives fees on behalf of the plaintiff and the defendant.


Qualification and rules to become a Lawyer

To become an advocate, it is mandatory to have a 5-year 3-year LLB graduation, you can do the course from any university which is registered with the Bar Council of India to give certificate for the qualification of LLB, after the course, you will get the certificate by the college. happens | After that you can apply for registration in the State Bar Council.


The following certificates are required for registration in the State Bar Council

1-High School Certificate

2- Graduation mark sheet or certificate

3- LLB mark sheet or certificate

4- degree or provisional degree

5- 5 photos in black coat tie

6- Notary affidavit

7- In the registration fee (DD) of the State Bar Council


Note- Fees of the State Bar Council may differ from state to state.

Here after submitting all the original certificates attached with the application form, you can get the registration number, ID card letter in a few days, after that you have to pass the exam of Bar Council of India To pass the exam of Bar Council of India After that the certificate of BCI is obtained. After that you can apply the form of COP (Certificate of Practice) then you get the COP number after that you can start your practice with any senior advocate.


Rahul Kushwaha

Advocate legal advisor

High Court Allahabad

Contact No.👉 +919452714702



2 दृश्य0 टिप्पणी

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

Comentários

Avaliado com 0 de 5 estrelas.
Ainda sem avaliações

Adicione uma avaliação
bottom of page